प्यार की होती हैं ये 5 स्टेजेस, केवल बेस्ट कपल ही पार कर पाते हैं स्टेज 3

जब भी ‘प्यार’ शब्द कहीं पर लिखा हुआ मिलता है, तो आँखों के सामने उसका चेहरा जाता है जिसे हम सबसे ज्यादा प्यार करते हैं। कहते हैं कि प्यार करना बहुत आसान है पर उसे निभाना बहुत मुश्किल है। बहुत कम लोग अपने प्यार को पूरी तरह निभा पाते हैं।

कुछ लोग अपने प्यार को अधूरा ही छोड़ किसी और दुनिया में चले जाते हैं। आज मैंने एक अंग्रेजी अखबार में प्यार के 5 चरणों के बारे में पढ़ा, तो सोचा क्यों ना इन प्यार के 5 चरणों के बारे में आपको बताया जाए। आपको बताना चाहूँगा कि प्यार के इन 5 चरणों तक पहुँचना बहुत मुश्किल है, सर्वश्रेष्ठ युगल भी सिर्फ तीसरे चरण तक पहुँच पाते हैं और यहाँ तक पहुँचने के बाद अपना रिश्ता खत्म कर लेते हैं। आइये जानते हैं प्यार के इन 5 चरणों के बारे में,

प्यार का पहला चरण: प्यार को पाने के लिए कुछ भी करना

जब हमें किसी से प्यार होता है तो हम उसके लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार हो जाते हैं। अपने प्यार को पाने के लिए हम पूरी दुनिया से लड़ने को तैयार रहते हैं। यह प्यार का पहला चरण होता है, इसमें एक प्रेमी युगल यह भूल जाता है कि वो गलत कर रहे हैं या सही कर रहे हैं

जब किसी को प्यार होता है तो वो अपने आप पर कंट्रोल नहीं रख पाता है। हमें लगता है कि पूरी दुनिया में हमारा प्यार ही सबसे अच्छा और सुंदर है। हम उसके अलावा कुछ और समझने में असमर्थ हो जाते हैं।

प्यार का दूसरा चरण

 प्यार का दूसरा चरण

प्यार का दूसरा चरण तब शुरू होता है जब दो प्यार करने वालों की शादी हो जाती है। शादी के बाद हर प्रेमी युगल अपनी जिन्दगी प्यार, रोमांस और आनंद में व्यतीत करना चाहता है। प्यार का दूसरा चरण एक प्रेमी युगल के लिए सबसे यादगार होता है। एक प्रेमी युगल प्यार के इस दुसरे चरण को कभी भी भूलना नहीं चाहता है।

अपने साथी के लिए सबसे ज्यादा वक्त निकालना

अपने साथी के लिए सबसे ज्यादा वक्त निकालना 

प्यार का यह दूसरा चरण कुछ ऐसा ही होता है, शादी के बाद हर प्रेमी युगल अपने साथी के लिए अधिक से अधिक वक्त निकालना चाहता है।

प्यार का तीसरा चरण

प्यार का तीसरा चरण

प्यार का तीसरा चरण शादी के कुछ सालों बाद शुरू होता है, जब एक प्रेमी युगल माता-पिता बन जाते हैं तो उन्हें अपने बच्चों का भविष्य सुधारने के लिए जी-तोड़ मेहनत करनी पड़ती है। इस चरण में आते ही एक प्रेमी युगल अलग होने की कगार पर जाता है। जहाँ हमेशा प्रेम की बातें होती थी इस चरण में आते ही घर के खर्चों की गिनती होना शुरू हो जाता है।

प्यार का चौथा चरण

प्यार का चौथा चरण

बहुत कम लोग इस चरण तक पहुँच पाते हैं। यह चरण ऐसा होता है जब प्रेमी युगल को लगता है कि हमने जो भी किया गलत किया है। इस चरण में प्रेमी युगल वापस प्यार के पहले चरण तक पहुँचाना चाहता है, पर प्यार के तीसरे चरण में हुई गलतियों के कारण वो पहले चरण तक पहुँच पाने में असमर्थ होता है।

चौथे चरण में जरूरत है

चौथे चरण में जरूरत है 

तमाम मुश्किलों का सामना करने के बाद जब एक प्रेमी युगल चौथे चरण में आता है तो उनके सामने दो रास्ते होते हैं। या तो समझदारी दिखाते हुए अपने साथी के साथ प्यार के अगले चरण की तरफ आगे बढ़ें, या फिर दोनों तीसरे चरण की तरह अलग हो जाए।

प्यार का पांचवा चरण

प्यार का पांचवा चरण 

प्यार के इस चरण तक बहुत ही कम युगल पहुँच पाते हैं। यह चरण प्यार के पहले चरण की तरह ही होता है। इस चरण में प्रेमी युगल पहले की तरह आपस में बातें करते हैं, पहले की तरह ही अपनी पुरानी यादों को याद करके खुश होते हैं। इस चरण में प्रेमी युगल को अपने आप पर गर्व होता है की उन्होंने अपनी जिन्दगी में कोई भी गलत फैसला नहीं लिया। यह चरण प्यार के उस आनंद को व्यक्त करता है जिसके लिए उन्होनें पूरी जिन्दगी कोशिश की थी। पर बहुत कम लोग प्यार के इस चरण तक पहुँच पाते हैं

यह वीडियो भी देखें

आप इस वीडियो को देखकर बहुत ही आसानी से प्यार के इन चरणों के बारे में समझ सकते हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *